कैंडलस्टिक चार्ट को कैसे पढ़ना है

हिंदी

कैंडलस्टिक चार्ट को कैसे पढ़ना है?

वित्तीय बाजार विश्लेषण मोटे तौर पर दो श्रेणियों, तकनीकी और मौलिक के तहत आता है। जहां, मौलिक विश्लेषण व्यापक आर्थिक स्थितियों, त्रैमासिक आय, और भविष्य की कीमत की चाल की भविष्यवाणी करने के लिए अन्य कारकों के बीच प्रचलित ब्याज दरों पर निर्भर करता है, वहीं तकनीकी विश्लेषण चार्ट का उपयोग करता है जहां अतीत में प्रतिभूतियों द्वारा बनाए गए पैटर्न का उपयोग किया जाता है।

यहां हम कैंडलस्टिक पैटर्न के बारे में बात करेंगे और पता करेंगे कि कैंडलस्टिक चार्ट में पैटर्न को कैसे पढ़ा जाए।

कैंडलस्टिक पैटर्न

एक कैंडलस्टिक पैटर्न किसी परिसंपत्ति की कीमत के बढ़ने तथा गिरने के परिणामस्वरूप बनता है। हालांकि तकनीकी चार्ट बेतरतीब पैटर्न दिखा सकते हैं, कुछ विशिष्ट पैटर्न का प्रयोग कारोबारियों द्वारा खरीद या बेचने के संकेत के रूप में किया जाता है। यह उल्लेख किया जाना चाहिए कि ये पैटर्न संकेत हैं और गारंटी नहीं देते हैं।

आम तौर पर पैटर्न को बुलिश और बियरिश इनसाइड बार कैंडलस्टिक पैटर्न क्या है? में विभाजित किया जा सकता है। बुलिश पैटर्न इसका संकेत है कि कीमत ऊपर जा रही है, जबकि बियरिश पैटर्न मूल्य में गिरावट के पहले आता आ सकते हैं।

कैंडलस्टिक अवयव

एक बार चार्ट की ही तरह, एक कैंडलस्टिक दिखाता है कि ट्रेडिंग सत्र के दौरान बाजार खुले, बंद, उच्च या निम्न हैं या नहीं। एक कैंडलस्टिक में एक विस्तृत हिस्सा होता है, जिसे “ रियल बॉडी ” कहा जाता है। यह करोबार सत्र के खुलने तथा बंद होने के बीच मूल्य सीमा के रूप में वर्णित किया जाता है।

जब रियल बॉडी काले रंग की होती है, तो इसका मतलब है कि समापन मूल्य प्रतिभूतियों द्वारा कोट किए गए शुरुआती मूल्य से कम है। एम्प्टी बॉडी इसका उल्टा होता है, जिसका अर्थ है कि समापन मूल्य प्रारंभ मूल्य से अधिक था।

कारोबारियों के पास उनके संबंधित ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म में रंग बदलने का विकल्प होता है। उदाहरण के लिए, एक नीचे की ओर की(डाउन) कैंडलस्टिक को आमतौर पर लाल रंग में शेडेड किया जाता है (पहले वर्णित काले रंग के बजाय)। ऊपर की ओर(अप) की कैंडलस्टिक को हरा रंग दिया जा सकता है (सफेद के बजाय)।

कैंडलस्टिक पैटर्न कैसे पढ़ा जाए

कैंडलस्टिक पैटर्न के कई बुनियादी रूप हैं जैसे बियरिश इनगल्फिंग पैटर्न, बुलिश इनगल्फिंग पैटर्न। आइए अब देखते हैं कि कैंडलस्टिक्स की व्याख्या कैसे करें।

बियरिश इनगल्फिंग पैटर्न: इस पैटर्न का गठन तब होता है जब एक प्रतिभूतियों के विक्रेताओं खरीदारों की तुलना में अधिक कर रहे हैं। आप इस पैटर्न का पता तब लगा सकते हैं जब आप एक छोटे से हरे रंग की रियल बॉडी को लंबे लाल रंग के रियल बॉडी से घिरा हुआ(इनगल्फिंग) देखते हैं। बियरिश इनगल्फिंग पैटर्न एक संकेत है कि बियर नियंत्रण में हैं और प्रतिभूतियों की कीमत कम गिरने की संभावना है।

बुलिश इनगल्फिंग पैटर्न: बियरिश इनगल्फिंग पैटर्न के विपरीत, इस पैटर्न का गठन किया है जब खरीदारों की संख्या विक्रेताओं से अधिक होती है।इस पैटर्न एक लंबी हरे रंग की रियल बॉडी, एक छोटी लाल रंग की रियल बॉडी को घेरे(इनगल्फ किए) होती है। कारोबारी एक खरीद संकेत के रूप में इस पैटर्न की व्याख्या करते हैं। जब बुलिश इनगल्फिंग पैटर्न का निर्माण होता है तो कीमतों में वृद्धि की उम्मीद की जाती है।

बियरिश इवनिंग स्टार: इवनिंग स्टार एक ऐसा पैटर्न है जिसका गठन तब होता है जब प्रतिभूतियों की कीमत में सबसे ऊपर होती है। जब पैटर्न में आखिरी कैंडलस्टिक पिछले दिन के छोटी रियल बॉडी के नीचे खुलती है, तो गठित पैटर्न को बियरिश इवनिंग स्टार कहा जाता है। इस पैटर्न की उपस्थिति का मतलब है कि भविष्य में प्रतिभूतियां बिक्री का दबाव देख सकती हैं।

बियरिश हरामी: यह पैटर्न का संकेत करता है कि कारोबारी दुविधा में पड़े हुए हैं। पिछले दिन की रियल बॉडी के अंदर पूरी तरह से एक छोटी लाल बॉडी को बियरिश हरामी कहा जाता है। यदि इस तरह के पैटर्न के बनने के बाद मूल्य ऊपर की ओर बढ़ते जा रहे हैं, तो ऊपर की ओर संचलन जारी रह सकता है। लेकिन अगर कीमत गिरना शुरू होता है, तो इसके आगे गिरते रहने की ही संभावना है।

बुलिश हरामी: जब हरे रंग की एक छोटा सी रियल बॉडी, पिछले दिन की बड़ी रियल बॉडी के अंदर होती है, तो पैटर्न को बुलिश हरामी कहा जाता है। पैटर्न एक संकेत है कि एक प्रवृत्ति रुक रही है और जल्द ही ऊपर की ओर संचलन आ सकता है।

बियरिश हरामी क्रॉस: यह पैटर्न एक अपट्रेंड के दौरान निर्मित होता है। जब दोजी एक ऊपर की ओर जाती कैंडलस्टिक का अनुसरण करता है — जहां कैंडलस्टिक करीब-करीब एक समान खुली और बंद होती है — पैटर्न को बियरिश हरामी क्रॉस कहा जाता है। इसके अलावा, डोजी पिछले सत्र की रियल बॉडी के भीतर है। इस तरह पैटर्न की व्याख्या कारोबारी बियरिश हरामी की ही तरह करते इनसाइड बार कैंडलस्टिक पैटर्न क्या है? हैं।

बुलिश हरामी क्रॉस: यह कैंडलस्टिक पैटर्न एक गिरावट के दौरान बनता है। इसका निर्माण तब होता है जब एक डोजी नीचे जा रही(डाउनट्रेंड) कैंडलस्टिक का अनुसरण करता है। डोजी पिछले सत्र की रियल बॉडी के भीतर है। बुलिश हरामी की ही तरह पैटर्न, एक प्रवृत्ति रुकने का संकेत है, इसके बाद ऊपर की ओर संचलन होता है।

निष्कर्ष: कैंडलस्टिक पैटर्न कारोबारियों को भविष्य में मूल्यों की चाल की भविष्यवाणी करने में मदद करते हैं। कैंडलस्टिक्स कारोबारियों को प्रतिभूतियों और अन्य परिसंपत्ति वर्गों के आसपास की भावनाओं को गेज करने में सहायता करते हैं। हालांकि ये पैटर्न इनसाइड बार कैंडलस्टिक पैटर्न क्या है? भविष्य में कीमत की चाल का संकेत देते हैं, विशेषज्ञों का सुझाव है कि संकेतों के हमेशा सच होने की गारंटी नहीं होती है।

कैंडलस्टिक को समझने की शुरुवात

4.1 इतिहास अपने को दोहराता है सबसे बड़ी अवधारणा (Assumption)

जैसे कि हम पहले भी बात कर चुके हैं कि टेक्निकल एनालिसिस में सबसे जरूरी अवधारणा (Assumption) यह है कि इतिहास अपने आप को दोहराता है। टेक्निकल एनालिसिस इस अवधारणा को बार-बार इस्तेमाल करता है। यह सबसे महत्वपूर्ण अवधारणा है।

टेक्निकल एनालिसिस की इस अवधारणा को और गहराई से समझना जरूरी है क्योंकि कैंडलस्टिक के पैटर्न पूरी तरीके से इस अवधारणा आधार बनाते हैं।

मान लीजिए आज 7 जुलाई 2014 है और कुछ चीजें बाजार में हो रही है।

  1. घटना एक शेयर पिछले 4 दिनों से लगातार गिर रहे हैं ।
  2. घटना दो आज 7 जुलाई 2014 को पांचवा ट्रेडिंग सेशन है जहां शेयर गिर रहे हैं। शेयर वॉल्यूम भी कम है।
  3. घटना तीन शेयर की कीमत का दायरा भी पिछले दिनों की तुलना में बहुत ज्यादा छोटा है।

इन घटनाओं को ध्यान में रखते हुए अब आप मानिए कि अगले दिन यानी 8 जुलाई 2014 को शेयरों की गिरावट थम जाती है और शेयर थोड़ी सी तेजी के साथ भी बंद होते हैं। तो पिछली तीन घटनाओं के परिणाम में छठवें दिन शेयर बाजार ऊपर की तरफ गया।

कुछ समय बीत जाता है मान लीजिए कुछ महीने , और बाजार में 5 दिनों तक फिर से ऐसी घटनाएं होती हैं जैसी हमने ऊपर देखी थी। अब आप छठवें दिन के लिए क्या उम्मीद लगाएंगे?

हमारी अवधारणा है कि इतिहास अपने आप को दोहराता है। यहां हम अपने अवधारणा में एक और चीज जोड़ देते हैं , वो ये कि जब पिछले कुछ दिनों की घटनाएं इतिहास की किसी और समय की तरह से चल रही है तो हम यह मान सकते हैं कि उन घटनाओं के बाद जो परिणाम दिखा था वही परिणाम फिर से दिखेगा। इसी अनुमान के आधार पर हम कहते हैं कि अब छठवें दिन शेयर ऊपर जाएंगे।

4.2- कैंडलस्टिक पैटर्न और उनसे जुड़ी उम्मीदें

कैंडलस्टिक का इस्तेमाल ट्रेडिंग पैटर्न समझने के लिए किया जाता है। पैटर्न , यानी एक खास तरह की घटना जब एक खास तरीके के संकेत देती है तो उसे पैटर्न कहते हैं। टेक्निकल एनालिस्ट पैटर्न के आधार पर ही अपना ट्रेड यानी सौदा तय करते हैं। किसी भी पैटर्न में दो या दो से ज्यादा कैंडल एक खास तरीके से लगे होते हैं। लेकिन कभी-कभी एक कैंडलस्टिक से भी पैटर्न समझा जा सकता है। इसलिए कैंडलस्टिक पैटर्न को सिंगल कैंडलस्टिक पैटर्न यानी एक कैंडलस्टिक वाले पैटर्न और मल्टीपल कैंडलस्टिक पैटर्न यानी कई कैंडलस्टिक वाला पैटर्न में बांटा जा सकता है। एक कैंडलस्टिक वाले पैटर्न में हम जो चीजें जानेंगे वह हैं।

  1. मारूबोज़ू (Marubozu)
    1. बुलिश मारूबोज़ू ( Bullish Marubozu)
    2. बेयरिश मारूबोज़ू (Bearish Marubozu)
    1. हैमर (Hammer)
    2. हैंगिंग मैन (Hanging man)

    मल्टीपल कैंडलस्टिक (Multiple Candlestick) पैटर्न वह होता है जिसमें कई कैंडलेस्टिक से एक पैटर्न बनता है मल्टीपल कैंडलस्टिक पैटर्न में हम जिन चीजों को जानेंगे , वो हैं :

    1. एन्गल्फिंग पैटर्न (Engulfing pattern)
      1. बुलिश एन्गल्फिंग (Bullish Engulfing)
      2. बेयरिश एन्गल्फिंग (Bearish Engulfing)
      1. बुलिश हेरामी (Bullish Harami)
      2. बेयरिश हेरामी (Bearish Harami)

      आप सोच रहे होंगे कि इन नामों का मतलब क्या है? जैसा कि हमने पहले भी बताया, इनमें से कई नाम अभी भी जापानी भाषा से ही आते हैं।

      कैंडलस्टिक पैटर्न एक ट्रेडर को ट्रेड की रणनीति बनाने और एक नजरिया बनाने में मदद करते हैं। हर पैटर्न में रिस्क की रणनीति भी होती है , साथ ही , एन्ट्री और स्टॉप लॉस कीमत के बारे में संकेत होते हैं।

      4.3 – कैंडलस्टिक से जुड़ी कुछ खास मान्यताएं

      हम पैटर्न के बारे में जानना और समझना शुरू करें उसके पहले कुछ और अवधारणाओं / मान्यताओं को अपने दिमाग में रखना जरूरी है। यह अवधारणाएं कैंडलस्टिक से जुड़ी हुई हैं। इन इनसाइड बार कैंडलस्टिक पैटर्न क्या है? अवधारणाओं को ठीक से अपने दिमाग में बैठा लीजिए क्योंकि आने वाले समय में हम इन पर बार-बार लौटेंगे। हो सकता है कि यह अवधारणाएं अभी आपको पूरी तरीके से समझ ना आएं लेकिन आगे चलते हुए हम इनके बारे में और विस्तार से समझेंगे। इसलिए अभी से इनको से थोड़ा-थोड़ा जान लेना जरूरी है।

      इनसाइड बार क्या है? – What is Inside Bar?

      Inside-Bar

      इस आर्टिकल क्व माध्यम से आप जानेगे की इनसाइड बार क्या होता है?(What is Inside Bar) और कैसे काम करता है?

      इनसाइड बार पैटर्न क्या है?- What is the Inside Bar Pattern?

      Inside-Bar

      इनसाइड इनसाइड बार कैंडलस्टिक पैटर्न क्या है? बार(Inside Bar) पैटर्न(Pattern) एक कैंडलस्टिक पैटर्न(Candlestick Pattern) है, जहां प्राइस(Price) पूरी तरह से पिछले कैंडलस्टिक(candlestick) के अंदर रहता है।

      एक इनसाइड बार(Inside Bar) के लिए एक कैंडल(Candle) का हाई(High) और लौ(Low) दोनों तभी मान्य माना जाता है जब वह पिछले कैंडलस्टिक(candlestick) के अंदर होता है

      कैंडलस्टिक्स (candlestick) के विक्स (Wicks) को लेकर अक्सर कन्फूजन (Confusion) होता है।

      इनसाइड बार कैंडलस्टिक (Inside Bar Candlestick) में विक्स को भी ध्यान में रखा जाता है। इसका मतलब यह है कि कैंडल(Candle) के विक्स सहित हाई और लौ, पिछले कैंडलस्टिक के हाई और लौ के भीतर होना चाहिए।

      क्या इनसाइड बार बुलिश या बेयरिश है?- Is the Inside Bar Bullish or Bearish?

      इनसाइड बार एक अनिर्णय या इन-डिसिशन (In-Decision) कैंडलस्टिक पैटर्न (Candlestick Pattern) है।

      प्राइस पिछले सेशन के हाई और लौ को तोड़ने में सक्षम नहीं होता है तभी इनसाइड बार बनता है।

      क्या इनसाइड बार एक ट्रेंड कॉन्टीनुअशन पैटर्न है? -Is the Inside Bar Trend continuation Pattern?

      यह तभी पता चलता है जब –

      1. यदि कोई इनसाइड बार एक स्ट्रांग ट्रेंड में बनता है, उदाहरण के लिए एक हायर हाई या अप ट्रेंड है, तो यह ट्रेंड्स के साथ प्राइस कॉन्टिनुएस(Continues) रखने से पहले एक ठहराव या पॉज(Pause) का संकेत दे सकता है।
      2. इसका सीधा मतलब है की वोलटिलती कंट्रक्शन (Volatility Contraction) होने के कारण प्राइस का मूवमेंट स्माल रेंज में चलता है।

      क्योंकि एक स्ट्रांग ट्रेंड में इनसाइड बार प्राइस एक्शन (Price Action) में एक पॉज को रिप्रेजेंट करता है। किसी भी ट्रैड में एंट्री करने के लिए इनसाइड बार(Inside Bar) के ब्रेकआउट के साथ कन्फर्मेशन का वेट करते है। यह तब होता है जब प्राइस इनसाइड बार(Inside Bar) को हाई या लौ की डायरेक्शन में तोड़ती है।

      क्या इनसाइड बार एक रिवर्सल पैटर्न है? – Is the Inside Bar Reversal Pattern?

      यदि एक इनसाइड बार एक स्विंग पॉइंट(Swing Point) और मेजर सपोर्ट(Support) या रेजिस्टेंस (Resistance) एरिया में बनता है, तो इसका मतलब ट्रेंड में बदलाव या रिवर्सल हो सकता है और प्राइस द्वारा मदर कैंडल के लौ के ब्रेकडाउन पर इसका कन्फर्मेशन हो जाता है।

      कहां से ट्रेड करें और किस टाइम फ्रेम पर ?- Where to trade and what time frame ?

      Inside-Bar

      डेली टाइम फ्रेम (Daily Time Frame) पर इनसाइड बार रिवर्सल और साप्ताहिक या वीकली टाइम फ्रेम (Weekly Time Frame) पर ब्रेकआउट (Breakouts) सबसे अच्छा काम करता है।

      यह महत्वपूर्ण है कि प्रत्येक इनसाइड बार(Inside Bar) का ट्रेड न करें क्योंकि इससे खराब ट्रेड हो सकते हैं।

      ट्रेड लेने से पहले अन्य द्वारा भी कन्फर्मेशन कर लेना बेहतर रहता है।

      इसे मंथली या मासिक से 1 मिनट के चार्ट तक सभी टाइम इनसाइड बार कैंडलस्टिक पैटर्न क्या है? फ्रेम पर यूज़ कर सकते हैं। हायर टाइम फ्रेम बेहतर होता है।

      इसमें कोई संदेह नहीं है कि इनसाइड बार फोरेक्स मार्किट(Forex market), इक्विटी(Equity), कमोडिटी (Commodity) या किसी अन्य मार्किट का ट्रेड करने का एक लाभदायक या प्रॉफिटेबल तरीका हो सकता है।

      हालाँकि, यह एक ऐसा सेटअप नहीं है जो अक्सर मिलता है। यही कारण है कि मार्किट में ट्रेड के लिए केवल इनसाइड बार कैंडलस्टिक पैटर्न का उपयोग करने पर ही निर्भर नहीं रहा जा सकता है।

      बार इंडिकेटर के अंदर एमटीएफ

      मूल्य कार्रवाई आधारित पैटर्न कैंडलस्टिक पैटर्न के साथ व्यापार करना बाजारों के पीछे की भावना को समझने का एक अच्छा तरीका है। मूल्य कार्रवाई आधारित कैंडलस्टिक पैटर्न जापानी कैंडलस्टिक चार्ट का एक उत्पाद है।

      Table Of Contents:

      उम्र के बाद से, कैंडलस्टिक चार्ट नेत्रहीन रूप से आकर्षक हैं और बाजारों की भावना को समझने में व्यापारियों की मदद करते हैं। कई व्यापारी अपने विश्लेषण में मोमबत्ती आधारित पैटर्न को जोड़ते हैं।

      इससे उन्हें बाजारों में जोखिम को कम करने के लिए तकनीकी विश्लेषण के साथ-साथ कैंडलस्टिक पैटर्न दोनों को संयोजित करने में सक्षम होने का विशिष्ट लाभ मिलता है। तरीकों के संयोजन से व्यापारियों को बाजारों में अधिक विश्वास होता है जब वे व्यापार कर रहे होते हैं।

      कई अलग-अलग प्रकार के पैटर्न हैं जो उपलब्ध हैं, अंदरूनी बार एक ऐसा पैटर्न है जो काफी शक्तिशाली है।

      अंदर की पट्टी क्या है?

      बार के अंदर का नाम इस तथ्य से आता है कि बार या कैंडलस्टिक्स में से एक पिछले सत्र की सीमा के अंदर बनता है। कैंडलस्टिक शब्दावली में, एक अंदरूनी बार को एक हरामी पैटर्न के रूप में भी जाना जाता है। इन्हें तेजी हरामि या मंदी हरामि में वर्गीकृत किया गया है

      जब आप नियमित बार चार्ट का उपयोग करते हैं, उदाहरण के लिए, ऐसे पैटर्न को दिए गए नाम को अंदर बार पैटर्न कहा जाता है। जब मौजूदा सत्र संलग्न होता है या पिछली पट्टी के चढ़ाव के भीतर रहता है, तो बार पैटर्न बनता है।

      बाजार की धारणा के संदर्भ में, इसका मतलब है कि व्यापार को वश में किया गया है। तंग सीमा जो बाजार बनाए रखता है, निकट अवधि में संभावित ब्रेकआउट की ओर जाता है। इनसाइड बार आदर्श रूप से हर जगह बस के बारे में बनते हैं।

      लेकिन वे बहुत अधिक महत्व प्राप्त करते हैं यदि समर्थन मूल्य या प्रतिरोध स्तर जैसे मुख्य मूल्य स्तर के पास का बार बनाया जाता है। अंदर की पट्टी का व्यापार करने का सामान्य विचार यह है कि मूल्य को अंदर की पट्टी से बाहर तोड़ने का इंतजार करना चाहिए (अर्थात: पिछली बार की ऊँची या नीची)। इनसाइड बार कैंडलस्टिक पैटर्न क्या है? व्यापारी तब अंदर के बार के ब्रेकआउट की दिशा में एक स्थिति लेते हैं।

      एमटीएफ शब्द बहु-समय सीमा के लिए खड़ा है जो एक ऐसी विधि है जहां व्यापारी उच्च समय सीमा से विश्लेषण को जोड़ते हैं और फिर अपने ट्रेडों को समय-समय पर कम समय के फ्रेम में देखते हैं। यह पहली बार में थोड़ा जटिल लग सकता है, लेकिन यह व्यापारियों को अधिक आत्मविश्वास के साथ व्यापार करने की अनुमति देता है और बाजारों में जोखिम को कम करने में मदद करता है।

      बार इंडिकेटर के अंदर MTF क्या है?

      हाल के समय में, व्यापारियों ने अंदर इनसाइड बार कैंडलस्टिक पैटर्न क्या है? के बार पैटर्न के साथ प्रयोग किया है, जिससे MT4 के लिए बार संकेतक के अंदर MTF का निर्माण होता है। यह संकेतक मूल रूप से व्यापारियों को निम्न समय सीमा पर उच्च समय सीमा से अंदर बार को प्लॉट करने के लिए संकेतक का उपयोग करने की अनुमति देता है।

      उदाहरण के लिए, यदि आप दैनिक चार्ट बनाने पर अंदर की पट्टी देखते हैं, तो आप चार घंटे या एक घंटे के चार्ट समय सीमा पर स्विच कर सकते हैं और तदनुसार व्यापार कर सकते हैं। ऐसी विधि का उपयोग करने के लाभों के बारे में एक बहस हो सकती है।

      लेकिन क्योंकि ट्रेडिंग एक व्यापारी से दूसरे व्यापारी के लिए काफी अनूठी है, तो कुछ को यह काफी उपयोगी लग सकता है।

      बार इंडिकेटर के अंदर एमटी 4 का उपयोग करने के लिए, इंडिकेटर डाउनलोड करें और फिर इसे अपने एमटी 4 ट्रेडिंग टर्मिनल पर स्थापित करें। एक बार संकेतक स्थापित होने के बाद, अपने एमटी 4 ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म को पुनरारंभ करें और अपनी पसंद के चार्ट पर संकेतक को खींचें / छोड़ें।

      आपको कॉन्फ़िगरेशन विंडो के साथ प्रस्तुत किया जाएगा जैसा कि नीचे देखा गया है।

      एमटीएफ इनसाइड बार इंडिकेटर कॉन्फ़िगरेशन

      कॉन्फ़िगरेशन विंडो अपेक्षाकृत सरल है। नीचे बार संकेतक के अंदर एमटीएफ के कॉन्फ़िगरेशन के बारे में अधिक विवरण दिया गया है।

      टीएफअप: यह खंड आपको उच्च समय सीमा को कॉन्फ़िगर करने की अनुमति देता है जिसमें से आप मानों को प्लॉट करने के लिए अंदर के बार संकेतक को चाहते हैं। डिफ़ॉल्ट 3 पर सेट है। इसका मतलब है कि यदि आप H1 या H4 इंडिकेटर का उपयोग करते हैं, तो बार इंडिकेटर के अंदर MTF तीन समय के फ्रेम को अधिक दिखाएगा। दूसरे शब्दों में, यह साप्ताहिक समय सीमा का मासिक होगा। आप अपने द्वारा उपयोग किए जा रहे चार्ट से केवल दो या सिर्फ एक समय फ़्रेम को दिखाने के लिए इसे 2 या 1 पर सेट कर सकते हैं।

      बार्स बैक: यह सेटिंग आपको पिछली बार की संख्या दिखाने की अनुमति देता है, संकेतक को आपके लिए अंदर की सलाखों की गणना करनी चाहिए। इसे उच्च सेटिंग में बदलने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि यह संभवतः आपके चार्ट को अव्यवस्थित कर सकता है।

      आँकड़े: डिफ़ॉल्ट गलत पर सेट है। इसे सही पर सेट करने से पूर्व में बने अंदरूनी बार के कुछ आंकड़े दिखाई देंगे।

      UpCandleColor / DownCandleColor: यह सेटिंग आपको अंदर की सलाखों के रंग को कॉन्फ़िगर करने की अनुमति देती है। असल में, आप रंगों को अनुकूलित करने के लिए उपयोग कर सकते हैं कि सूचक को कैसे दिखना चाहिए, जब वह निचले समय के फ्रेम चार्ट पर उच्च समय सीमा के कैंडलस्टिक पैटर्न को प्लॉट करता है।

      चौड़ाई: चौड़ाई का उपयोग करके आप खींची गई लाइनों की चौड़ाई को नियंत्रित कर सकते हैं।

      भरना: भरने का विन्यास आपको भरे हुए रंग के साथ बक्से को प्लॉट करने की अनुमति देता है या नहीं। यह विशुद्ध रूप से व्यक्तिगत पसंद का मामला है और इससे संकेतक के प्रदर्शन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

      एक बार इनसाइड बार कैंडलस्टिक पैटर्न क्या है? जब आप अपने पसंदीदा अनुकूलन में प्रवेश कर लेते हैं, तो बार संकेतक के अंदर एमटीएफ नीचे दिए गए विवरणों को दर्ज करता है।

      MT4 पर MTF इनसाइड इंडिकेटर

      जैसा कि ऊपर दी गई तस्वीर से पता चलता है, आप देख सकते हैं कि बार इंडिकेटर के अंदर एमटी 4, निचले समय के फ्रेम चार्ट पर दैनिक समय सीमा की कीमत कार्रवाई करता है। यह आपको बाजारों में कोई बड़ी बढ़त नहीं देता है।

      हालांकि, शुरुआती लोगों को एमटीएफ संकेतक कुछ उपयोग के लिए मिलेंगे क्योंकि यह उन्हें यह देखने की अनुमति देता है कि बड़े समय सीमा के आधार पर कम समय फ्रेम चार्ट पर मूल्य कार्रवाई कैसे प्रकट होती है।

      बार संकेतक रूपों के अंदर एमटीएफ के कैंडलस्टिक पैटर्न के आधार पर, व्यापारी दैनिक चार्ट समय सीमा और निम्न चार्ट समय सीमा दोनों पर पैटर्न को देखकर मूल्य कार्रवाई के तरीकों का व्यापार कर सकते हैं, जिसका वे व्यापार के लिए उपयोग कर रहे हैं।

      आप किसी भी मौजूदा ट्रेडिंग सिस्टम के साथ एमटीएफ को बार इंडिकेटर के अंदर जोड़ सकते हैं। यह टूल केवल उन व्यापारियों के लिए एक आसान तरीका देता है जो मल्टी-टाइम फ्रेम ट्रेडिंग और प्राइस एक्शन ट्रेडिंग दृष्टिकोणों के साथ शुरुआत करना चाहते हैं।

रेटिंग: 4.21
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 524